7 ही दिन पहले ही हुए थे एक-दूजे के, आधी रात हुई ऐसी दुर्घटना कि दूल्हा-दुल्हन की एक साथ उठ गई अर्थी…!

7 दिन पहले ही विवाह कर दुल्हन ससुराल आई थी। 8वें दिन उसने रात में अपने भाई को कॉल कर कहा कि भाई मुझे माफ कर देना। इसके बाद वह कुएं में कूद गई। बहन की इस बात से हड़बड़ाए भाई ने जीजा को फोन कर पूरी बात बताई। जब वह उसे खोजने लगा तो कुएं के पास पत्नी की मोबाइल दिखी।
किसी दुर्घटना की आशंका से वह कुएं में कूदा तो पत्नी वहीं मिली। वह पत्नी को रस्सी से निकाल ही रहा था कि रस्सी टूट गई और दोनों की डूबकर मौत हो गई। अगले दिन दोनों की एक साथ अर्थी उठी।

Loading...

कोरिया जिले के बैकुंठपुर कोतवाली अंतर्गत ग्राम पंचायत सारा निवासी रानू सिंह पिता प्रितपाल सिंह का 2 मई को ग्राम पेंड्री निवासी बालकुंवर (22) वर्ष के साथ विवाह हुआ था।

Loading...

इस वक़्त ससुराल पक्ष के लोग ३ मई को दुल्हन को घर ले गए थे। २ दिन ससुराल में रहने के बाद मायके पक्ष के लोग चौथी लेने पहुंचे और अपनी बिटिया को मायके ले गए थे। विवाह के चौथे दिन 9 मई को ससुराल पक्ष के लोग पहुंचे और बहू को घर ले आए।

इस वक़्त किसी कारण से 10 मई को रात लगभग 10-11 बजे नवविवाहिता मायके में फोन लगाकर अपने भाई से बोली- मुझे माफ कर देना, इसके बाद उसने कुएं में छलांग लगा दी। फोन पर बहन का और कोई उत्तर नहीं मिलने के बाद भाई ने अपने जीजा को पूरी बात बताई।

रस्सी टूट गई और डूब गए दोनों

नवविवाहिता को पति सहित ससुराल पक्ष के लोग ने बाहर ढूंढना शुरू कर दिया। इस वक़्त कुएं के बगल में उसका मोबाइल देखकर पति बालकुंवर भी कुएं में कूद गया और रस्सी के सहारे अपनी पत्नी को बचाने की प्रयाश कर रहा था। इसी बीच एकाएक रस्सी टूट जाने से दोनों कुएं में गिर गए।

जब तक दूसरा इंतजाम होता तब तक मृतका के कपड़े में फंसने और नहीं तैर पाने के वजह पति-पत्नी की मौत हो गई। विषय की सूचना मिलने के बाद कोतवाली पुलिस अवसर पर पहुंची और शव का पंचनामा व पीएम कराने के बाद परिजानों को सौंप दिया गया है।

loading...
Loading...