कान में बार-बार हो रही खुजली से परेशान था व्यक्ति, जांच कराया तो डॉक्‍टर्स भी रह गए दंग…!

चीन में एक परेशान कर देने वाला विषय सामने आया है, जहां एक आदमी कान में खुजली की शिकायत से हैरान था, जिसके बाद जब वह अपनी हैरानी लेकर डॉक्टर के पास गया। डॉक्टर ने जब उसके कान की परीक्षण की तो उसके साथ-साथ डॉक्टर खुद भी परेशान रह गया। युवक के लिए ये वाकई बुरे सपने के सच होने जैसा था, क्योंकि जब डॉक्टर्स ने उसके कान की परीक्षण की तो उन्हें उसके कान में एक जीव दिखाई दिया, जो कि एक मकड़ी थी। ये मकड़ी युवक के कान के अंदर अपना जाला तैयार कर रही थी, जिसकी कारण से न केवल उसे खुजली की शिकायत थी, जबकि सुनने में भी हैरानी हो रही थी।

Loading...

चीन के इस आदमी का नाम ली बताया जा रहा है। मिली जानकारी के अनुसार ली को कुछ दिनों से कान में खुजली हो रही थी और ऐसा महसूस हो रहा था, जैसे उसके कान के अंदर कुछ रेंग रहा है। इस पर ली अपनी हैरानी लेकर डॉक्टर के पास गया, जिसके बाद डॉक्टर ने माइक्रोस्कोप की सहायता से ली के कान के अंदर देखा, तो वह खुद भी परेशान रह गया। डॉक्टर ने बताया की ली के कान के अंदर एक जीवित मकड़ी है, जो कान के अंदर ही अपना जाला बुन रही है। यही कारण थी कि ली को कान में हैरानी हो रही थी।

Loading...

जाले के चलते डॉक्टर्स को चिमटी की मदद से मकड़ी को कान से बाहर निकालने में परेशानी हो रही थी, जिसके बाद डॉक्टर ने सेलाइन सॉल्यूशन की कुछ बूंदें डालीं और इसके बाद मकड़ी को बाहर निकाला। डॉक्टर ने इस पूरी घटना का एक वीडियो भी बनाया, जिसे बाद में ऑनलाइन शेयर किया गया। डॉक्टर के अनुसार इस वीडियो को शेयर करने के पीछे का उनका मकसद लोगों को जागरुक करना है। ली के कान से मकड़ी को बाहर निकालने वाले डॉक्टर का कहना है कि यदि उन्हें भी इस तरह की परेशानी हो रही है तो उन्हें डॉक्टर के पास अवश्य जाना चाहिए और अपने कान की परीक्षण कराना चाहिए।

डॉक्टर के अनुसार स्पाइडर ने ली के कान के अंदर जाला बुना हुआ था, इसे देखकर लग रहा था जैसे मकड़ी बहुत दिनों से ली के कान के अंदर रह रही थी। जबकि अब ली को मकड़ी से रहात मिल गई है, किन्तु ये उन लोगों के लिए एक सबक है जो हैरानी होने पर भी अपने कान का उपचार घर में ही करने लगते हैं, जबकि ये काफी अधिक खतरनाक हो सकता है. सर्जन ने धीरे से ली के कान में सेलाइन सॉल्यूशन इंजेक्ट किया और मकड़ी को काम्यबिपूर्वक बाहर निकाल दिया।

loading...
Loading...