सुषमा का ममता को जवाब, दुश्मनी जमकर करो परन्तु यह गुंजाइश रहे…!

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कोलकाता में एक चुनावी रैली के वक़्त कहा था कि पीएम नरेंद्र मोदी को लोकतंत्र का मजबूत तमाचा पड़ना चाहिए। अब केंद्रीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने ममता बनर्जी के इन गवाहों का एक ट्वीट के जरिए उत्तर दिया है। उन्होंने बेहद सधे शब्दों में ममता को चेतावनी भरा उत्तर देते हुए कहा कि आप राज्य की मुख्यमंत्री हैं और मोदी जी देश के प्रधानमंत्री हैं कल आपको उन्हीं से बात करनी है।

Loading...

सुषमा स्वराज ने चर्चित कवि बशीर बद्र की कविता की दो लाइनों का उल्लेख करते हुए ट्वीट किया।

ममता जी – आज आपने सारी हदें पार कर दीं। आप प्रदेश की मुख्यमंत्री हैं और मोदी जी देश के प्रधान मंत्री हैं। कल आपको उन्हीं से बात करनी है। इसलिए बशीर बद्र का एक शेर याद दिला रही हूँ। दुश्मनी जम कर करो किन्तु ये गुंजाइश रहे, जब कभी हम दोस्त हो जाएँ तो शर्मिंदा न हों। ममता बनर्जी का ये गवाही पीएम नरेंद्र मोदी के उस गवाही के बाद आय़ा था जिसमें उन्होंने कहा था कि ट्रिपल टी से ये राज्य चल रहा है। टी-तृणमूल, तोलाबाजी और टैक्स। तोलाबाजी का मतलब बंगाली में फिरौती होता है। ममता ने यहां कहा कि मेरे लिए पैसा मायने नहीं रखता है, शायद इसीलिए जब भी नरेंद्र मोदी बंगाल आते हैं मेरी पार्टी को तोलाबाज बताते हैं। यहीं पर उन्होंने आगे कहा था कि मैं उन्हें लोकतंत्र का एक शानदार तमाचा देना चाहती हूं।

बता दें कि इससे पहले सोमवार को पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा था कि उन्होंने पीएम मोदी को चक्रवात फोनी पर चर्चा करने के लिए वापस से कॉल नहीं किया था क्योंकि मैं एक एक्सपायरी पीएम के साथ स्टेज शेयर नहीं करना चाहती। मैं अब उन्हें पीएम के तौर पर नहीं देखती। जब नया पीएम आएगा तब हम उससे बात करेंगे।

Loading...

इसी के बाद ये विरुद्ध बढ़ता गया जिसके बाद पीएम मोदी ने तोलाबाद वाली टिप्पणी की थी। फिर ममता बनर्जी नेकहा कि मैं तोलाबाज हूं तो आप क्या हैं? आपकी पूरी पार्टी ऊपर से नीचे तक लोगों के खून से रंगी है। केवल दंगे, दंगे और केवल दंगे।

गौरतलब है कि भाजपा ने पश्चिम बंगाल की सीटों पर जीत प्राप्त करने के लिए पूरी एड़ी-चोटी का जोर लगा दिया है। इसके पहले वर्ष 2014 में भाजपा को यहां केवल 2 सीटों पर जीत प्राप्त हुई थी।

loading...
Loading...